Home Political Samachar रायपुर : निर्वाचन की विश्वसनीयता, पारदर्शिता और निष्पक्षता ही अधिकारी की योग्यता...

रायपुर : निर्वाचन की विश्वसनीयता, पारदर्शिता और निष्पक्षता ही अधिकारी की योग्यता की कसौटी है : श्री सुब्रत साहू

रायपुर, 12 फरवरी 2019

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुब्रत साहू ने कहा है कि निर्वाचन की विश्वसनीयता, निष्पक्षता और पारदर्शिता बनाये रखना ही निर्वाचन अधिकारी की योग्यता की कसौटी है। उन्होंने कहा कि जिला निर्वाचन अधिकारी के हर काम में यह प्रदर्शित होना चाहिए। श्री साहू लोकसभा निर्वाचन-2019 की तैयारियों के सिलसिले में प्रदेश के सभी जिलोें के कलेक्टर्स एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों के दो दिवसीय सर्टिफिकेशन कोर्स के शुभारंभ अवसर पर संबोधित कर रहे थे।

इस दौरान संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी त्रय श्री समीर विश्नोई, श्रीमती पद्मिनी भोई साहू तथा डॉ. के. आर. आर. सिंह सहित मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। नवीन विश्राम भवन के ऑडिटोरियम में आयोजित सर्टिफिकेशन कोर्स के दो दिवसीय कार्यक्रम में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुब्रत साहू ने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को विधानसभा निर्वाचन में बेहतर क्रियान्वयन के लिए बधाई दी।

उन्होंने लोकसभा निर्वाचन-2019 में और भी बेहतर और सुगम निर्वाचन की दिशा में कार्य करने का आह्वान किया। उन्होंने बताया कि इन दो दिनों में प्रदेश के सभी 11 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के रिटर्निंग अधिकारियों सहित जिला निर्वाचन अधिकारियों को सुगम, निष्पक्ष और स्वतंत्र निर्वाचन के लिए आवश्यक जानकारियाँ दी जा रही हैं। इस दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी और रिटर्रिंग अधिकारी के दायित्वों, मतदाता सूची का पुनरीक्षण, आदर्श आचरण संहिता और अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर जानकारी दी गई।

प्रशिक्षण कार्यक्रम के पहले दिन 7 सत्रों के दौरान विषय विशेषज्ञों तथा मास्टर ट्रेनरों ने निर्वाचन संबंधी विभिन्न विषयों पर प्रस्तुतिकरण दिया। इस दौरान प्रश्नोत्तरी तथा व्यवहारिक चुनौतियों को लेकर पर समस्याओं का समाधान किया गया। मास्टर ट्रेनर श्री प्रणव सिंह ने जिला निर्वाचन अधिकारियों के दायित्वों पर प्रकाश डाला। उन्होंने निर्वाचन के दौरान नामांकन प्रक्रिया, नामांकन की संवीक्षा, अभ्यर्थी की अयोग्यता समेत अन्य विषयों पर बातें रखीं। नेशनल लेवल मास्टर ट्रेनर श्री ए. के. सेतिया ने आदर्श आचरण संहिता के पालन तथा इस दौरान रखी जाने वाली सावधानियों के संबंध में प्रकाश डाला। उन्होंने निर्वाचन व्यय तथा निगरानी की बारीकियों को साझा किया।

उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वमास्टर ट्रेनर श्री श्रीकांत वर्मा ने मतदाता सूची अद्यतन करने, कार्यबल तैनाती, सुरक्षा बल की तैनाती के संबंध में जानकारी दी। मास्टर ट्रेनर श्री पुलक भट्टाचार्य ने निर्वाचन तैयारियों, मतदान दल, मतदान केंद्रों की तैयारियों, रिजर्व पार्टी सहित अन्य तैयारियों पर विस्तारपूर्वक चर्चा की। मास्टर ट्रेनर श्री मनीष मिश्रा ने निर्वाचन पूर्व प्रशिक्षणों के महत्व पर प्रकाश डाला और आगामी दिनों में प्रदेश तथा जिला स्तर पर होने वाले विभिन्न प्रशिक्षणों की जानकारी भी दी।

पहले दिन के प्रशिक्षण उपरांत जिला निर्वाचन अधिकारियों के लिये भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार सर्टिफिकेशन कोर्स पर आधारित परीक्षा आयोजित की गई। दूसरे दिन अर्थात 13 फरवरी कोभी प्रशिक्षण उपरांत द्वितीय चरण की परीक्षा आयोजित की जाएगी। प्रशिक्षण के दूसरे दिन 13 फरवरी को 6 सत्र होंगे। इसमे इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईव्हीएम) तथा व्हीव्हीपेट का उपयोग, मतदान दल एवं दिव्यांग मतदाता की सहूलियतों, पेड न्यूज, मीडिया तथा मीडिया मॉनिटरिंग कमेटी, मतगणना तथा परिणाम की घोषणा के साथ ही सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग जैसे सुविधा, सुगम, समाधान, सी-विजिल तथा मतगणना एप्लिकेशन पर जानकारी दी जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments