शादी का कार्ड छपने से पहले टूट गई थी रतन टाटा की सगाई, जानिये पूरा किस्सा

पीटर केसी (Peter Casey) अपनी किताब ‘द स्टोरी ऑफ टाटा: 1868 टू 2021 में लिखते हैं कि उस समय रतन टाटा की एक अमेरिकी गर्लफ्रेंड भी थी जो उनके साथ भारत आना चाहती थी, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया था।

देश के जाने-माने बिजनेसमैन रतन टाटा ने अमेरिका से आर्किटेक्चर की पढ़ाई की है। कॉलेज के दिनों उन्हें यहां का माहौल और जैसी आज़ादी मिली थी इससे वे खासे प्रभावित हुए थे और यहीं रहने का फैसला कर लिया था। हालांकि उन्हें अमेरिका के ठंडे मौसम को झेलने की आदत नहीं थी। यही वजह थी कि उन्होंने न्यूयॉर्क के इथाका शहर से बाहर जाने का फैसला किया था।

रतन टाटा भारत नहीं आना चाहते थे। ऐसे में अपना कोर्स खत्म करते ही न्यूयॉर्क से अमेरिका के ही दूसरे शहर लॉस एंजिल्स शिफ्ट हो गए थे। लेकिन उन्होंने जैसा सोचा था वैसा नहीं हो पाया। आखिरकार ऐसी स्थिति बनी कि उन्हें भारत लौटना पड़ा और फिर यहीं रह गए।

दादी की तबीयत बिगड़ी तो लौटना पड़ा वापस: पढ़ाई पूरी करने के बाद रतन टाटा अमेरिका में ही अर्किटेक्ट की नौकरी खोज रहे थे। वह खुद को अमेरिका में एक आर्किटेक्ट के रूप में स्थापित करना चाहते थे। इस बीच उनकी दादी की तबीयत अचानक खराब हो गई। ऐसे में रतन टाटा खुद को नहीं रोक पाए और भारत वापस आ गए।

पीटर केसी (Peter Casey) अपनी किताब ‘द स्टोरी ऑफ टाटा: 1868 टू 2021 में लिखते हैं कि उस समय रतन टाटा की एक अमेरिकी गर्लफ्रेंड भी थी जो उनके साथ भारत आना चाहती थी, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया था। बाद में उनकी दादी की तबीयत लगातार खराब रहने लगी और टाटा ने यहीं रहने का फैसला किया।

टूट गई थी सगाई: एनडीटीवी ने पीटर केसी (Peter Casey) की किताब का एक अंश प्रकाशित किया है। अपनी किताब में केसी ने रतन टाटा की शादी से जुड़ा एक किस्सा भी साझा किया है। बकौल पीटर केसी, रतन टाटा के जीवन में चार गर्लफ्रेंड थीं और वह सभी को लेकर काफी गंभीर भी थे। एक बार तो उनकी शादी की पूरी तैयारी भी हो चुकी थी, लेकिन कार्ड छपने से ऐन पहले उनकी सगाई टूट गई थी। इसके बाद उन्होंने कभी शादी नहीं की।

चूंकि रतन टाटा अपनी दादी के काफी करीब थे, ऐसे में उन्होंने अमेरिका छोड़कर भारत में ही रहने का फैसला किया और टाटा संस्थान का काम भी संभालने लगे। धीरे-धीरे वो यहीं रच-बस गए और फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

भारत-चीन युद्ध के कारण नहीं मिली थी इजाजत: रतन टाटा ने खुद एक इंटरव्यू में अपनी निजी जिंदगी को लेकर तमाम बातें साझा की थीं। उन्होंने बताया था कि अमेरिका में रहने के दौरान उन्हें एक लड़की से बेहद प्यार हो गया था और वह उससे हर कीमत पर शादी करना चाहते थे। टाटा को लगा कि वह लड़की उनके साथ भारत आ जाएगी और दोनों शादी कर लेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। दरअसल, साल 1962 में भारत-चीन युद्ध शुरू हो गया और उनके माता-पिता ने इस शादी की इजाजत देने से मना कर दिया। धीरे-धीरे दोनों का रिश्ता एक मोड़ पर आकर खत्म हो गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *