राम जन्मभूमि न्यास की मांग- अयोध्या में राम मंदिर निर्माण हेतु प्रस्तावित ट्रस्ट के अध्यक्ष बने योगी आदित्यनाथ, बताई इसकी वजह 

दशको से चले आ रहें अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट के 5 न्यायाधीश की सवैधानिक खंड पीठ ने ऐतिहासाकि फैसला सुनाते हुए विवादित भूमि पर ट्रस्ट का गठन कर राम मंदिर का निर्माण करवाने का सरकार को आदेश दिया तथा 5 एकड़ जमीन मुस्लिम पक्ष को मस्जिद बनाने हेतु अलग से देने का फैसला सुनाया। कोर्ट ने कहा की सरकार 3 माह के अंदर राम मंदिर निर्माण हेतु ट्रस्ट का गठन करें। राम मंदिर निर्माण की निगरानी करने वाले ट्रस्ट का अध्यक्ष मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बनाने की मांग राम जन्मभूमि न्यास ने कि है।

गोरक्षा पीठ के महंत के तौर पर ट्रस्ट की अध्यक्षता करें योगी –

सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद ट्रस्ट निर्माण में तेजी आने की संभावना है। इसी के बिच राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा की राम जन्मभूमि न्यास चाहता है कि योगि आदित्यनाथ ट्रस्ट की अध्यक्षता करे। गोरखपुर में प्रतिष्ठित गोरखनाथ मंदिर गोरक्षा पीठ का है और राम मंदिर आंदोलन  में इसने महत्वपूर्ण भूमिक निभाई थी। महंत दिग्विजय नाथ, महंत अवैद्यनाथ और अब योगी आदित्यनाथ मंदिर आंदोलन के महत्वपूर्ण अंग रहें है। उन्होंने यह भी कहा की योगि आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर नही बल्की गोरक्षा पीठ के महंत के तौर पर ट्रस्ट की अध्यक्षता करनी चाहिए।

Leave a Comment