Home राष्ट्रीय लाखों-करोड़ों के हीरे मिलते हैं इस खेत पर, लोग ढूंढने के लिए...

लाखों-करोड़ों के हीरे मिलते हैं इस खेत पर, लोग ढूंढने के लिए काम-धंधे छोड़ आते हैं

सभी रत्नों में हीरा सबसे बेशकीमती माना जाता है। इसकी कीमत लाखों से शुरू होकर करोड़ों तक जा सकती है। यदि ये किसी गरीब इंसान को मिल जाए तो वह रातोंरात करोड़पति बन सकता है। आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले में चिन्ना जोनागिरी इलाके में एक किसान के साथ ऐसा ही कुछ हुआ। किसान का दावा है कि उसे खेत में 30 कैरेट का हीरा मिला है। उसने इस हीरे को एक लोकल व्यापारी को 1.2 करोड़ रुपए में बेच भी दिया।

dimond

यह मामला सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हो रहा है। इसे लेकर इलाके के एसपी ने कहा कि हम इस खबर की जांच कर रहे हैं। उन्होंने ये भी बताया कि इस इलाके में यह ऐसी कोई पहली घटना नहीं है। इस क्षेत्र में पहले भी कई ऐसी खबरें आ चुकी है जिसमें लोगों को हीरा या कोई कीमती पत्थर मिला हो।

kurnool farmer found diamond

ऐसी खबरों का असर ये होता है कि यहां के इलाकों में हर साल जून से नवंबर के बीच कई लोग हीरा खोजने आ जाते हैं। ये लोग अपने काम धंधे इस दौरान छोड़ देते हैं और रातदिन सिर्फ हीरों और कीमती पत्थरों को ढूंढने में लगे रहते हैं। इनमें से कुछ तो आसपास के गाँव से आकर टेंट लगाकर भी रहते हैं।

एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक बारिश के दिनों में यहां अक्सर कीमती पत्थरों के मिलने की खबरें आती रहती है। दरअसल जब बारिश से मिट्टी बहती है तो ऐसे कीमती पत्थर मिलने की संभावना भी बढ़ जाती है। जोन्नागिरी, तुग्गली, मदिकेरा, पगीदिराई, पेरावली, महानंदी और महादेवपुरम कुछ ऐसे गांव हैं जहां लोग बारिश के बाद हीरों की तलाश में जुट जाते हैं।

kurnool farmer found diamond

कुरनूल जिले में तो करीब प्रत्येक वर्ष ही किसी को हीरे मिलने की खबर आ जाती है। 2019 में ही एक किसान ने दावा किया था कि उसे 60 लाख रुपए का एक हीरा मिला है। वहीं 2020 में दो गांव के लोगों को कथित रूप से 5 से 6 लाख के दो कीमती पत्थर मिले थे। उन्होंने इन्हें स्थानीय व्यापारियों को 1.5 लाख रुपए और 50,000 रुपए में बेचा था।

हीरा मिलने की खबर सुन यहां आसपास के कई जिलों के लोग आकर्षित होकर आते हैं और टेंट लगा हीरे की खोजबीन में जुट जाते हैं। सिर्फ स्थानीय लोग ही नहीं बल्कि सरकार और प्राइवेट कंपनियां भी यहां हीरा खोजने का अभियान चलवा चुकी है। यहां हीरा मिलने को लेकर तीन कहानियां फेमस हैं।

kurnool farmer found diamond

पहली कहानी के मुताबिक सम्राट अशोक के शासनकाल से ही यहां की मिट्टी में हीरे दफन है। कुरनूल के पास जोनागिरी को मौर्यों की दक्षिणी राजधानी सुवर्णगिरि के नाम से जानी जाती थी। वहीं दूसरी कहानी ये दावा करती है कि विजयनगर साम्राज्य के श्री कृष्णदेवराय (1336-1446) और उनके मंत्री तिमारुसु द्वारा इस इलाके में हीरे और सोने के गहनों का एक बड़ा खजाना दफन किया गया था।

फिर तीसरी कहानी के अनुसार यह दावा किया जाता है कि गोलकुंडा सल्तनत (1518-1687) के समय इन हीरों को मिट्टी में छिपाया गया था। इसे कुतुब शाही राजवंश के नाम से भी जाना जाता है। ये राजवंश हीरे के लिए फेमस था। इसे गोलकुंडा हीरे कहा जाता था।

वैसे क्या आप भी इन इलाकों में हीरा खोजना जाना पसंद करेंगे?

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments