मध्यप्रदेश में बजा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का बिगुल, राज्य निर्वाचन आयोग करेगा तारीखों का एलान, चुनाव ने नहीं लगेगी शिक्षकों की ड्यूटी

मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव की घोषणा हो गई हैं। आज अचानक से हुई त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की घोषणा से राजनीतिक दलों में हलचल मच गई हैं। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की घोषणा करते हुए MP के राज्य निर्वाचन आयोग ने बताया कि पंचायत चुनाव तीन चरणों में होगा। पंचायत चुनाव की घोषणा के साथ ही प्रदेश में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई हैं जो 25 जनवरी तक प्रभावी रहेगी। प्रदेश के 50 जिला पंचायतों के 843 और 313 जनपद पंचायत, 6816 जनपद सदस्यों के निर्वाचन के साथ ही प्रदेश की  22 हजार 795 पंचायतों में चुनाव होंगे।

 

चुनाव में शिक्षकों की नही लगेगी ड्यूटी 

प्रदेश के राज्य निर्वाचन आयोग के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव तीन चरणों में होंगे। संभावना जताई जा रही है की 20, 22 एवं 24 जनवरी को सुबह 8 से दोपहर 3 बजे तक मतदान होगा। जिसके बाद मतगणना होगी। संवेदनशील मतदान केंद्रों पर मतगणना नही होगी। इनके मतो की गणना 28 एवं 30 जनवरी तथा 1 फरवरी को खंड मुख्यालय पर होगी। जनपद सदस्य के लिए मतगणना 3 तथा 5 फरवरी को एवं जिला पंचायत सदस्यों के लिए 6 फरवरी को मतगणना होगी। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा की इस बार पंचायत चुनाव में शिक्षकों की ड्यूटी नही लगाई जाएगी। बहुत ही आवश्यक होने पर ही शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाएगी। आंचार सहित के दौरान रोजगार गारंटी योजना के तहत स्वीकृत कार्यो पर कोई रोक नही होगी। उन्होंने यह भी बताया कि मतदान ईवीएम मशीन से नही होंगे। 26 दिसम्बर को निर्वाचन  की सूचना के प्रकाशन के साथ निर्वाचन प्रक्रिया शुरू होगी। संभावना है की 26 से नामांकन पत्र भरे जाएंगे जो 2 जनवरी तक जारी रहेंगे। 4 जनवरी को नामांकन पत्रों की जाँच एवं 6 जनवरी नाम वापसी की अंतिम तारीख रहेगी।

Leave a Comment