सोनिया गांधी ने फेर दिया शिवसेना के सपनों पर पानी, कांग्रेस-NCP के इस फैसले से शिवसेना को लगा बड़ा झटका 

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर रोज नई-नई बाते सामने आ रही है। एक और जहां भाजपा  के साथ शिवसेना का सीएम की कुर्सी को लेकर खींचतान चल रही है तो वही दूसरी और कांग्रेस और एनसीपी ने भी शिवसेना का साथ देने से साफ इंकार कर दिया है। हाल ही में शिवसेना के नेता संजय राउत ने बयान दिया था कि भाजपा के बिना भी शिवसेना महाराष्ट्र में सरकार बना सकती है और उस सरकार में मुख्यमंत्री शिवसेना का ही रहेगा। लेकिन शिवसेना के इस मंसूबे पर कांग्रेस और एनसीपी दोनो ने पानी फेर दिया है।

कांग्रेस-NCP ने फैर दिया शिवसेना के सपनों पर पानी 

शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी का समर्थन लेकर महाराष्ट्र में सरकार बनाने के सपने देख रही थी लेकिन दोनो ही पार्टियों ने शिवसेना के इस सपने पर पानी फेर दिया है। भाजपा से चल रही खींचतान के बिच शिवसेना कांग्रस और एनसीपी के साथ सरकार बनाना चाह रही थी। इसी को लेकर महाराष्ट्र कांग्रेस के कुछ नेताओं ने कांग्रेस की अंतरीम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। जिसके बाद बताया जा रहा है की सोनिया ने शिवसेना के साथ सरकार बनाने से साफ इंकर करते हुए कहा है कि कांग्रेस विपक्ष में बैठेगी। इससे पहले एनसीपी प्रमुख शरद पंवार ने भी कहा था की वे विपक्ष में बैठेगे। कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन कर चुनाव लड़े थे ऐसे में दोनो ने विपक्ष में बैठने का फैसला किया है। जिसके बाद अब शिवसेना को बड़ा झटका लग गया है साथ ही शिवसेना के उस सपने पर दोनो पार्टीयों ने पानी फेर दिया है जो सीएम कुर्सी को लेकर देखा जा रहा था। अब शिवसेना के पास BJP के साथ ही सरकार बनाने का विकल्प बचा है।

Leave a Comment