Home Political Samachar MP के इस पुलिस वाले की हिम्मत और साहस को हर कोई कर...

MP के इस पुलिस वाले की हिम्मत और साहस को हर कोई कर रहा हैं सलाम, 10 फिट गंदे नाले में कूदकर बचाई बुजुर्ग की जान

हमारे देश में पुलिस की कार्यप्रणाली पर भले ही कितनी बातें क्यों ना हो लेकिन पुलिस हर हाल में हमारे लिए तत्त्पर खड़ी रहती हैं। हालांकि पुलिस पर कितने भी रिश्वत और भ्रष्टाचार के आरोप लगा दो लेकिन वे हर त्यौहार पर अपने घर ना जाते हुए अपनी ड्यूटी पर इसलिए अडिग रहते हैं ताकि हम आसानी से त्यौहार मना सके और किसी तरह की कोई अनहोनी ना हों। दीपावली के इस त्यौहार के बीच मध्य प्रदेश में स्थित चंद्रशेखर आजाद की जन्मस्थली चंद्रशेखर आजाद नगर भाबरा के एक पुलिसवाले की हिम्मत और साहस का वीडियो सामने आया हैं। इस पुलिसवाले ने 10 फिट गंदे और दलदली नाले में कूदकर एक बुजुर्ग की जान बचाई हैं। जिसका वीडियो लगातार वायरल हो रहा हैं। सोशल मीडिया पर उनके इस कार्य के लिए उन्हें हर कोई सलाम कर रहा हैं। मध्य प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य आलीराजपुर जिले के भाबर थाना के इंस्पेक्टर कैलाश बारिया का यह वीडियो वाट्सऐप, फेसबुक सहित अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर वायरल हो रहा हैं।

इसलिए टीआई ने लगा दी गंदे नाले में छलांग –

लगातार तेजी से वायरल हो रहें इस वीडियो के बाद पुलिसवाले की हर कोई तारीफ कर रहा हैं। यह वीडियो दीपावली के दूसरे दिन यानी की गोवर्धन पूजा के दिन 28 अक्टूबर सोमवार का हैं। मध्य प्रदेश के अलीराजपुर  जिले के चन्द्रशेखर आजाद नगर भाबरा थाने पर पदस्थ इंस्पेक्टर कैलाश बारिया अलीराजपुर एसपी को दीपावली की बधाई देकर अपने थाना क्षेत्र भाबरा लौट रहे थे। इस दौरान उन्हें भाबरा के समीप एक पुल पर काफी भीड़ दिखाई दी। अपने गाड़ी को रोककर उन्होंने देखा की 50-55 वर्ष का एक बुजुर्ग गंदे नाले में डूब रहा हैं, लेकिन आसपास खड़े लोग साधन के अभाव में मदद नहीं कर पा रहे है। उन्होंने बुजुर्ग को डूबता देख लगभग 8 से 10 फिट गंदे नाले में छलांग लगा दी और दलदली नाले में तैरते हुए उस बुजुर्ग के पास पहुँचे और उसे सही सलामत किनारे पर लेकर आए। इंस्पेक्टर बारिया की इस बहादुरी को देख वहाँ मौजूद एक अन्य ग्रामीण युवक भी नाले के पास पहुँचा और उसने बुजुर्ग को नाले से बहार लाने में मदद की। बताया जा रहा हैं कि बुजुर्ग शराब पीने का आदि हैं तथा भाबरा थाना क्षेत्र के कस्बे मेढ़ा में रहता हैं, जो शराब पीकर नाले में गिर गया था। अगर इंस्पेक्टर बारिया समय पर उसकी मदद के लिए छलांग नही लगाते तो उस बुजुर्ग की जान भी जा सकती थी।

अब इन इंस्पेक्टर के बारे में भी थोड़ा जान लीजिए –

शोसल मीडिया पर लगातार वायरल हो रहे इस वीडियो को देख इंस्पेक्टर बारिया की उनके पुलिस अधिकारियों ने सराहना की हैं। 46 वर्षीय इंस्पेक्टर कैलाश पिता झितुजी बारिया एमपी के ही झाबुआ जिले के राणापुर थाना क्षेत्र के गांव बडलीपाड़ा के रहने वाले हैं। जो वर्ष 2000 में सब इंस्पेक्टर की परीक्षा पास कर पुलिस में आए और वर्ष 2009 में इंस्पेक्टर बन गए। इंस्पेक्टर बारिया बहुत ही साधारण परिवार के हैं जो मेहनत, लगन और संघर्ष करके पुलिस में भर्ती हुए। इनके द्वारा पूर्व में भी कई बार ऐसे कार्य किए जा चुके हैं। जिससे सभी का मन पुलिस के प्रति सैल्यूट वाली भावना व्यतीत करता है।

अगर आपको हमारी यह खबर अच्छी लगी हो और इंस्पेक्टर बारिया के इस कार्य की सराहना करना चाहते है तो हमारी इस खबर को शेयर करना बिल्कुल ना भूले। क्योकि दरियादिल और हिम्मत वाले पुलिसकर्मी आज भी लोगो के बिच रहकर उनकी हर तरह की सुरक्षा के साथ सहायता भी करते है। और हम इंस्पेक्टर बारिया जैसे हर पुलिसकर्मी को सलाम करते है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments