संयुक्त राष्ट्र महासभा में पीएम मोदी के भाषण की यह दो बड़ी बातें जो पाकिस्तान की इमरान सरकार कभी पचा नहीं पाएगी, जानिए आखिर क्या बोले थे पीएम मोदी  

संयुक्त राष्ट्र महासभा को कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित करते हुए यह संदेश देना चाहा की भारत विश्व में एक बड़ी शक्ती बनकर उभर रहा है। यूएन में प्रधानमंत्री मोदी भारत में हो रहें विकास से लेकर आंतकवाद तक खुलकर बोले है। पीएम मोदी ने बिना पाकिस्तान का नाम लिए महासभा को संबोधित करते हुए दो ऐसी बाते कही है जिससे पाकिस्तान की इमरान सरकार कभी पचा नही पाएगी। हफ्ते भर की अमेरिका की यात्रा के बाद आज पुनः पीएम मोदी भारत लौट रहें है। जिनके स्वागत की तैयारी भाजपा द्वारा की गई है। लगभग आधे घंटे से अधिक समय तक पीएम मोदी ने यूएन में अपना भाषण दिया। जिसमें उन्होंने दो बड़ी बाते कही है।

हम हर जीव में शिव देखते है

पीएम मोदी के भाषण की पहली बड़ी बात यह रही कि उन्होंने कहां की भारत के संस्कार औ संस्कृति हर जीव में शिव को देखते है। जनभागीदारी से जनकल्याण ही हमारा उद्देश्य है और ये केवल भारत के लिए ही नही बल्की जगकल्याण के लिए है। सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास केवल भारत की सीमाओं तक ही सीमित नही है। हमारा परिश्रम न तो दया भाव है और न ही दिखावा है, यह सिर्फ कर्तव्य भाव से प्रेरिरत है।

हमने दुनिया को युद्ध नही बुद्ध दिये 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महासभा को संबोधित कर रहे थे तब उनकी बातों को सुनकर वहां तालियांही तालियां गूंज रही थी। पीएम मोदी के भाषण की दुसरी बड़ी बात यह रही कि उन्होंने कहा की हम उस भारत देश के वासी है। जिसने दुनिया को युद्ध नही बल्की बुद्ध दिये है। दुनिया को शांति का संदेश दिया है। यही वजह है कि हमारी आवाज में आंतक के खिलाफ दुनिया भर को सतर्क करने की गंभीरता भी है तथा आतंकवाद  खिलाफ आक्रोश भी है। आतंकवाद किसी एक देश के लिए नही बल्कि पूरी दुनिया और मानवता की सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है। पीएम मोदी ने यह भी कहा की आंतक के नाम पर बंटी हुई दुनिया यूएन के उन सिद्धांतों को ठेस पहुंचाती है जिसके आधार पर यूएन का जन्म हुआ है। उन्होंने कहा की में इस बात को अनिवार्य समझता हूँ की आतंक के खिलाफ विश्व को एकजुट होना है।

पीएम मोदी के भाषण की यह दोनो बाते उन्होंने बिना पाकिस्तान का नाम लिए कही है। पीएम की इन बातो को पाकिस्तान पचा नहीं पाएगा, क्योंकी पाकिस्तान आंतकवाद का आका बना बैठा है और आंतकवाद हर जिव के लिए गंभीर खतरा है।

Leave a Comment