Home अंतरराष्ट्रीय पीएम मोदी बोले- अगर राफेल होता तो नतीजा कुछ और होता

पीएम मोदी बोले- अगर राफेल होता तो नतीजा कुछ और होता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यदि राफेल होता तो शायद इससे भी नतीजा कुछ ओर होता. और ये बात हम साफ-साफ समझें. राफेल पर पहले स्वार्थ नीति और अब राजनीति के कारण देश का बहुत नुकसान हुआ है. भारत के ही ख‍िलाफ उठाते हैं. कुछ लोग सेना पर संदेह करते हैं, वह ये काम करना छोड़ दें. राफेल की कमी आज देश ने महसूस की है. आज हिंदुस्तान एक स्वर में कह रहा है क‍ि आज हमारे पास यद‍ि राफेल होता तो शायद इससे भी नतीजा कुछ ओर होता. और ये बात हम साफ-साफ समझें. राफेल पर पहले स्वार्थ नीत‍ि और अब राजनीत‍ि के कारण देश का बहुत नुकसान हुआ है.
मैं इन लोगों को स्पष्ट कहता हूं क‍ि मोदी व‍िरोध करना है तो जरूर कर‍िए, हमारी योजनाओं में कम‍ियां न‍िकाल‍िए. उनका क्या असर हो रहा है, क्या नहीं हो रहा है, इस पर सरकार की भरसक आलोचना कीज‍िए, आपका हमेशा स्वागत है लेक‍िन देश के सुरक्षा ह‍ितों का व‍िरोध मत कीज‍िए. आप ये ध्यान रख‍िए क‍ि मोदी व‍िरोध की ज‍िद में मसूज अजहर और हाफ‍िज सईद जैसे आतंक‍ियों को, आतंक के सरपरस्तों को सहारा न म‍िल जाए, वह और मजबूत न हो जाएं.

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2019 के मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्र KEYNOTE: #INDIA ELECTS; My India Story: What leading a great country taught me में अपने 5 साल के कार्यकाल और उनकी उपलब्धियों को बारे में बताया है.

इंडिया टुडे समूह के इंडिया टुडे कॉन्क्लेव के 18वां संस्करण का आज दूसरा और अंतिम दिन है. आज इस कॉन्क्लेव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ह‍िस्सा ल‍िया. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले हुए पुलवामा हमले के कारण भारत और पाकिस्तान के बीच बने तनाव और विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान द्वारा रिहा करने के बाद स्वदेश वापसी के बाद प्रधानमंत्री मोदी इस पर बात कर रही है.

पाकिस्तान में आतंकियों के शिविरों पर भारत के हवाई-हमले के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने राफेल की जरूरत पर बयान दिया तो कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पलटवार किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि देश राफेल की कमी महसूस कर रहा है और अगर भारत के पास ये लड़ाकू विमान होते तो कुछ और ही बात होती. यह बातें उन्होंने पाकिस्तान से जारी तनाव और आतंकी शिविरों पर भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के संदर्भ में कही. उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘ राफेल पर स्वार्थनीति और अब राजनीति के कारण देश का बहुत नुकसान हुआ. राफेल की कमी आज देश ने महसूस की है. आज हिंदुस्तान एक स्वर में कह रहा है कि अगर हमारे पास राफेल होता, तो क्या होता?”मोदी ने कहा कि वह विपक्षियों को बताना चाहते हैं कि वे उनकी आलोचना करने और उनकी गलतियां निकालने के लिए स्वतंत्र हैं पर उन्हें देश के सुरक्षा हितों को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिये. गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राफेल सौदे को लेकर मोदी पर हमला बोलते रहे हैं. उनका आरोप है कि इस सौदे में भ्रष्टाचार और अपनी पसंद का ही ध्यान रखा गया. सरकार इन आरोपों से इंकार करती रही है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राफेल विमान से जुड़े एक बयान को लेकर शनिवार को उन पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि मोदी की वजह से इस लड़ाकू विमान की आपूर्ति में विलंब हुआ और ऐसे में विंग कमांडर अभिनंदन जैसे बहादुर पायलट को पुराने विमान उड़ाकर अपना जीवन जोखिम में डालना पड़ रहा है.गांधी ने ट्वीट कर कहा, ” प्रिय प्रधानमंत्री, क्या आपको कोई शर्म नहीं है? अपने 30 हजार करोड़ रुपये चोरी करके अनिल अंबानी को दिये. राफेल विमानों के आने में देरी के लिए सिर्फ आप जिम्मेदार हैं.” उन्होंने आरोप लगाया, ”आपकी वजह से विंग कमांडर अभिनंदन जैसे बहादुर पायलट को पुराने विमान उड़ाकर अपना जीवन जोखिम में डालना पड़ रहा है.”

गौरतलब है कि पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमले के संबंध में प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को कहा कि भारत के खिलाफ उंगली उठाने की किसी में हिम्मत नहीं है और नई नीतियों और नई परंपराओं को लाया जा रहा है. उन्होंने एक चैनल के कार्यक्रम में कहा कि आज पूरा देश एक स्वर में कह रहा है कि अगर राफेल होता तो परिणाम कुछ और होते. उधर, कांग्रेस के मुख्य प्रवक्त रणदीप सुरजेवाला ने एक बयान जारी कर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि मोदी ने जवानों की शहादत का राजनीतिकरण का किया है. विकास दर में गिरावट को लेकर भी सुरजेवाला ने हमला बोला और दावा किया कि मोदी सरकार में अर्थव्यवस्था चरमरा गई है और सिर्फ कुछ उद्योगपतियों के ‘अच्छे दिन’ आए हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments