सुना है आपको कैंसर हो गया? जब राजकुमार से मिलने गए सुभाष घई कर बैठे सवाल, एक्टर ने इस अंदाज में दिया था जवाब

राजकुमार से जब सुभाष घई ने पूछा कि सुना है आपको कैंसर हो गया है? उनकी इस बात को लेकर एक्टर ने भी जबरदस्त अंदाज में जवाब दिया था।

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर राजकुमार ने फिल्म ‘रंगीली’ से हिंदी सिनेमा में कदम रखा था। इसके बाद वह ‘मदर इंडिया’ और ‘पाकीजा’ जैसी कई फिल्मों में नजर आए। राजकुमार को लेकर कहा जाता था कि वह लोगों के मुंह पर ही अपनी दिल की बातें कह दिया करते थे, भले ही सामने वालों को वह बातें बुरी लगें या अच्छी। 3 जुलाई, 1996 को राजकुमार ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। वह कैंसर से पीड़ित थे, ऐसे में वह फिल्म ‘सौदागर’ की शूटिंग तक सही से नहीं कर पा रहे थे।

राजकुमार की खराब हालत को देख सुभाष घई ने उनसे मिलने का फैसला किया और उनसे उनकी परेशानी जानने की कोशिश की। सिनेबस्टर के मुताबिक सुभाष घई ने राजकुमार के पास जाकर कहा, “मैं क्या सुन रहा हूं? क्या यह सच है कि आपको कैंसर हो गया है?” उनकी इस बात पर राजकुमार ने भी जबरदस्त अंदाज में जवाब दिया।

raaj kumar news – NEWS TAK

राजकुमार ने सुभाष घई से कहा, “राजकुमार को बीमारी होगी तो बड़ी होगी ना, कोई जुकाम से थोड़ी ना मरेगा राजकुमार।” सुभाष घई ने राजकुमार के साथ फिल्म ‘सौदागर’ में काम किया था। इस मूवी में राजकुमार के साथ-साथ एक्टर दिलीप कुमार ने भी मुख्य भूमिका में थे।

बता दें कि अपने अंतिम समय में खराब तबीयत के बाद भी राजकुमार ने अस्पताल में रहने से साफ मना कर दिया था। इस बात का खुलासा उनके बेटे पुरु राजकुमार ने किया था। पुरु राजकुमार ने पिता के बारे में बात करते हुए कहा था, “उन्होंने खराब तबीयत के बाद भी अस्पताल में रहने से इंकार कर दिया था। वह घर पर रहकर ही शांति से इस दुनिया को अलविदा कहना चाहते थे।”

पुरु राजकुमार ने पिता के बारे में बात करते हुए कहा था, ” मैंने भी पापा के साथ रहने के लिए कॉलेज छोड़ दिया था। 3 जुलाई, 1996 को उन्होंने आखिरी सांसें लीं थीं। जो आखिरी बातें मैंने उनके साथ की थीं,

Dilip Kumar, Raaj Kumar have been enemies for 36 years”: what the writer of Subhash  Ghai told him before the casting of Saudagar – Fashion News
वह हमेशा ही मुझे याद रहेंगी। उनकी गैर मौजूदगी में उनकी फिल्में देखना हमारे लिए थोड़ा कठिन होता था। आप उनकी आवाज सुन सकते हो, देख सकते हो, लेकिन यह दर्दभरा होता था। मैं प्रार्थना करता था कि काश वह लंबा जीवन जीते।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *