राम मंदिर राजनीतिक मुद्दा नही है, बल्कि देश की आस्था और विश्वास का विषय है – RSS 

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्य मामले पर अपना फैसला सुरक्षित रखा है। राम मंदिर पर दोनो दलो की बहस के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखते हुए माह नवंबर में फैसला सुनाने की तारीख दी है। बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में इस मुद्दे पर दिनभर बहस और ड्रामा चला है। मामले पर अनेक-अनेक बयान भी सामने आए है। इसी अयोध्या मुद्दे पर राष्ट्रिय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। संघ के सह सर कार्यवाह डाॅ. मनमोहन वैद्य ने कहा की अयोध्या मामला राजनीति का मुद्दा नही है यह आस्था और विश्वास का विषय है।

राम मंदिर राजनीतिक मुद्दा नही है 

ओडिशा के भुवनेश्वर में तीन दिवसीय अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक का आयोजन हो रहा है। बैठक का उद्घाटन संघ प्रमुख मोहन भागवत ने किया। इस दौरान सघ के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी भी मौजुद थे। वही आयोध्या मुद्दे पर बोलते हुए संघ के सह सर कार्यवाह डाॅ. मनमोहन वैद्य ने कहा कि “राम मंदिर एक राजनीतिक मुद्दा नही है, बल्कि पूरे देश की आस्था और विश्वास का विषय है।” अनुच्छेद 370 निरस्त होने पर उन्होंने कहा की यह एक अस्थायी प्रावधान था और राष्ट्रीय सहमति से केंद्र सरकार ने इसे खत्म करने का फैसला लिया है। वैद्य ने यह भी कहा की संघ की शाखाएं जातिगत भेदभाव खत्म कर लोगों में सद्भाव बनाने में अहम् भूमिका निभा रही है।

आपको बता दे कि भुवनेश्वर में आयोजित संघ के इस बैठक में देश भर से संघ के 350 प्रमुख पदाधिकारी भाग ले रहें है। जिसमें संगठनात्मक गतिविधियों, संघ विस्तार तथा विकास के लिए योजनाओं पर चर्चा की जाएगी।

Leave a Comment