आदित्य ठाकरे के इन गुणों के कारण शिवसेना उन्हें देखना चाहती है महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में, जानिए आदित्य के राजनीतिक सफर की पूरी कहानी 

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव 2019 से पहले किसी ने सोचा नही था की महाराष्ट्र में नई सरकार बनाने के लिए इतनी माथापच्ची होगी। महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में भाजपा को उम्मीद मुताबिक और सरकार बनाने के लिए बहुमत से कम सीटे मिली है। इसका फायदा शिवसेना उठा रही है। शिवसेना और भाजपा गठबंधन कर चुनाव लड़ी लेकिन अब शिवसेना ने अपने तेवर बदल दिए है वो ठाकरे खानदान के पुत्र आदित्य ठाकरे को महाराष्ट्र के सीएम के रूप में देखना चाहती है। आज हम आदित्य ठाकरे की वह इन साईड स्टोरी बताने जा रहे है जिसके कारण शिवसेना आदित्य ठाकरे को  महाराष्ट्र के सीएम के रूप में देखना चाहती है। आज हम आपको आदित्य ठाकरे के वह गुण बता रहें है जिसके कारण शिवसेना के विधायक से लेकर हर कार्यकर्ता उन्हें सीएम बनते देखना चाहते है।

आदित्य की युवाओं में जबरदस्त पकड़ –

आदित्य ठाकरे महाराष्ट्र की सबसे बड़ी शख्सियत स्वं. बाला साहेब ठाकरे के पौते है। आदित्य के पिता उद्धव ठाकरे फिलहाल में शिवसेना के प्रमुख है। आदित्य ठाकरे ने अपने राजनीतिक करीयर की शुरूआत 17 अक्टुबर 2010 से शिवसेना की युवा शाखा “युवा सेना” से की थी। जिसके वे प्रमुख बने और महाराष्ट्र के युवाओं में अपनी जबरदस्त पकड़ बना ली। पिछले विधानसभा चुनाव में वे शिवसेना के लिए प्रचार में उतरे थे। लेकिन इस बार उन्होंने विधानसभा का चुनाव लड़ा और भारी मतो से विधायक बने है। भाजपा के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ने वाली शिवसेना आदित्य ठाकरे को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री देखना चाहती है। फिलहाल भाजपा और शिवसेना दोनो के बिच इस विषय पर तनातनी चल रही है।

एक बेहतर कवी है आदित्य ठाकरे –

महाराष्ट्र के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि ठाकरे परिवार का कोई सदस्य विधानसभा का चुनाव लड़ा है। “युवा सेना” से अपने राजनीतिक सफर का आगाज करने वाले 13 जून 1990 को जन्मे आदित्य ठाकरे एक बेहतर कवी भी है। आदित्य द्वारा लिखि गई कविताएं हिंदी और मराठी में भी छप चुकी है और इनके गीतों का एक एल्बम भी लांच हो चुका है। आदित्य की हिंदी और मराठी भाषा में रूची उन्हें जनता से जोड़े रखती है।

कुशल वक्ता है आदित्य ठाकरे

आदित्य ठाकरे ने कभी इस बात का घमंड नही किया की वे ठाकरे खानदान के वारिस है। उन्होंने हमेशा खुद को सरल और सहज बनाए रखा। इसी के चलते वे चुनाव जीते है और शिवसेना के विधायक भी उन्हें सीएम के रूप में देखना चाहते है। एक अच्छे कवी के साथ ही आदित्य एक अच्छे वक्ता भी है जो अपनी वाणी से लोगो को अपनी और आकर्षीत करते है। आदित्य ने मुंबई के सेंट जेवियर्स काॅलेज से दक्षता प्राप्त की है।

इतनी संपती के मालिक है आदित्य 

आदित्य ठाकरे को एक अच्छा मैनेजमेंट गुरू भी मान सकते है। वे हर स्थिती को अच्छे से हेंडल करते है। चुनाव से पहले पर्चा दाखिल करने के दौरान आदित्य ठाकरे द्वारा दिए गए हलफनामे के अनुसार उनके पास कुल लगभग 16 करोड़ की संपत्ति है। आदित्य के हलफनामे के अनुसार 10 करोड़ 36 लाख 15 हजार 218 रूपये बैंक में जमा है, आदित्य का कुल निवेश साढ़े 20 लाख का है और उनके पास एक बीएमडब्ल्यू कार भी है जिसकी कीमत साढ़े 6 लाख बताई है। इसके साथ ही लाखों रूपये की ज्वैलरी भी उनके पास है।

आदित्य के इन्ही गुणो के चलते शिवसेना के छोटे से लेकर बड़े कार्यकर्ता तक हर कोई उन्हें सीएम बनना देखना चाहता है। लेकिन फिलहाल भाजपा के साथ शिवसेना की तनातनी के बिच आदित्य का सीएम बनना कहा तक तय है यह आने वाला समय ही बताएगा।

Leave a Comment