श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का फैसला आने की संभावना, इसे सभी करे खुले मन से स्वीकार – RSS

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले पर सुनवाई पूरी करने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद दोनो पक्षों को सुनने के बाद अब नवंबर में फैसला आने के आसार है। उम्मीद यह है कि 17 नवम्बर से पहले राम मंदिर का फैसला आ जाएगा और यह फैसला सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस की सेवानिवृत से पहले आएगा। इसी बिच एक बार फिर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने राम मंदिर पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। संघ ने कहा कि अयोध्या मामले पर आने वाले निर्णय का सभी को खुले दिल  से स्वागत करना चाहिए।

श्रीराम जन्मभूमी के फैसले को सभी करे स्वीकार

राष्ट्रीस स्वयं सेवक संघ ने ट्वीट कर कहा है कि राम मंदिर पर आने वाले फैसले का स्वागत सभी को खुले दिल से करना चाहिए। दरअसल संघ ने ट्वीट कर जानकरी दी है कि 30 अक्टूबर से 5 नवंबर तक हरिद्वार में प्रचारक वर्ग के साथ दो दिन की बैठक पहले से निश्चित थी। यह बैठक संघ ने आवश्यक कारणों से स्थगित कर दी है लेकिन हरिद्वार के स्थान पर अब यह दिल्ली में बैठक होगी। संघ द्वारा किए गए ट्वीट में RSS के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरूण कुमार ने कहा कि आगामी दिनों में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के वाद पर सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय आने की संभावना है। निर्णय जो भी आए उसे सभी को खुले मन से स्वीकार करना चाहिए। निर्णय के बाद देश भर में वातावरण सौहार्दपूर्ण रहे, यह सबका दायित्व है। संघ के प्रचार प्रमुख ने ट्वीट के जरिए यह भी कहा की इस विषय पर भी बैठ में विचार हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *