उद्धव ठाकरे ने केंद्र सरकार को दिया बड़ा झटका, महाराष्ट्र में अब बैलेट पेपर से…

साल 2014 में जब भारतीय जनता पार्टी केंद्र की सत्ता में आई थी तो उसके बाद देश में जितने भी चुनाव हुए हैं। उनमें ईवीएम के जरिए वोटिंग हुई है। लेकिन अब खबर सामने आ रही है कि महाराष्ट्र के उद्धव ठाकरे सरकार ने ईवीएम को लेकर एक बड़ा फैसला ले लिया है। दरअसल महाराष्ट्र सरकार जल्द ही राज्य में बैलेट पेपर के साथ चुनाव कराने की तैयारी में जुट गई है।

महाराष्ट्र सरकार द्वारा यह फैसला भाजपा के शासनकाल में ईवीएम पर उठने वाले सवालों को देखते हुए लिया गया है। माना जा रहा है कि उद्धव ठाकरे की सरकार बैलेट पेपर से चुनाव कराने के लिए कानून बना सकती है। जिसके बाद राज्य में होने वाले सभी चुनाव ईवीएम के जरिए नहीं बल्कि बैलट पेपर के साथ ही हो पाएंगे।
modi shah


खबर के मुताबिक विधानसभा बजट सत्र में बैलेट पेपर से चुनाव कराने के लिए कानून ला सकती है और इसके लिए ड्राफ्ट भी तैयार किया जा रहा है। महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले ने एक इंटरव्यू में बैलेट पेपर के इस्तेमाल की पुष्टि भी की है।
न्यूज18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक नाना पटोले ने महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार को राज्य में ईवीएम के साथ-साथ बैलेट पेपर से भी चुनाव कराने के लिए ड्राफ्ट तैयार करने के लिए निर्देश दिए हैं।

माना जा रहा है कि अगर अगले महीने मैं यह कानून ड्राफ्ट हो जाता है तो मार्च में होने वाले विधानसभा के बजट सत्र के दौरान एसएफएसपी कर दिया जाएगा।
जब विधानसभा में यह बिल पास होने के बाद महाराष्ट्र में कोई भी चुनाव होंगे। तो उन चुनावों को बैलेट पेपर से ही कराया जा सकता है। इसके अलावा लोकसभा चुनाव में भी महाराष्ट्र सरकार द्वारा बैलट पेपर के साथ ही मतदान करवाए जाने की बात कही जा रही है।

गौरतलब है कि कई विपक्षी पार्टियों द्वारा ईवीएम पर सवाल खड़े किए जा चुके हैं। विपक्षी पार्टियों का कहना है कि ईवीएम में गड़बड़ी के चलते भाजपा कई राज्यों में चुनाव जीती है। महाराष्ट्र सरकार द्वारा यह फैसला भाजपा के शासनकाल में ईवीएम पर उठने वाले सवालों को देखते हुए लिया गया है। माना जा रहा है कि उद्धव ठाकरे की सरकार बैलेट पेपर से चुनाव कराने के लिए कानून बना सकती है। जिसके बाद राज्य में होने वाले सभी चुनाव ईवीएम के जरिए नहीं बल्कि बैलट पेपर के साथ ही हो पाएंगे।

Leave a Comment