Home Political Samachar देवरानी को भाजपा ने दिया टिकट तो टक्कर देने के लिए जेठानी...

देवरानी को भाजपा ने दिया टिकट तो टक्कर देने के लिए जेठानी भी कूदी मैदान में

यूपी पंचायत चुनाव (Up Panchayat Chunav 2021) में भाजपा के उम्मीदवारों की लिस्ट जारी होते ही हाथरस जिले में सियासत परवान चढ़ गई। इस लिस्ट के जारी होते ही प्रदेश के कद्दावर नेता पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय के परिवार की कलह एक बार फिर खुलकर सामने आ गई। पहली बार रामवीर ने प्रेस कान्फ्रेंस की और अपने छोटे भाई मुकुल उपाध्याय पर गंभीर आरोप लगाए। हालांकि मुकुल भी अपने भाई से माफी मांगते रहे। रामवीर ने अपने भाई मुकुल पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि जिस भाई को मैंने बुलंदी पर पहुंचाया, उसी ने मुझे कलंकित कर दिया। उन्होंने मुकुल के खिलाफ अपना पूरा गुबार निकाल दिया। उल्लेखनीय है कि लंबे समय से जिले के कद्दावर नेता रामवीर उपाध्याय के परिवार में कलह चल रही थी।

CM yogi adityanath

करीब डेढ़ साल पहले पूर्व एमएलसी मुकुल उपाध्याय ने रामवीर उपाध्याय पर गंभीर आरोप लगाए थे। इस बार रामवीर उपाध्याय ने उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। रामवीर उपाध्याय ने अपने आगरा रोड स्थित निवास पर अपने समर्थकों की बैठक बुलाई। बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मुकुल को मैंने पढ़ाया- लिखाया, शादी कराई। इगलास में वर्ष 2004 के चुनाव में मुकुल को बसपा से टिकट दिलाकर चुनाव जितवाया। सभी लड़ाई मैंने झेली। इसके बाद वर्ष 2007 के विधानसभा क्षेत्र में मुकुल क्षेत्र में नहीं रहे तो मुकुल चुनाव हार गए। इसके बाद भी मैंने इसे राज्यमंत्री का दर्जा दिलाया। प्रदेश में बसपा का कोआर्डिनेटर बनवाया। इसके बाद एमएसली का चुनाव लड़ाया। जब रुपये की जरूरत पड़ी तो रुपये देने के नाम पर हाथ खड़े कर दिए। काफी रुपया मेरा लग गया।

मैंने अपने बच्चों की एफडी तोड़ी, घर के जेवर बेचे। रामवीर ने कहा कि मैंने जब अपने रुपये मांगे तो ऐसा प्लाट दिखा दिया, जोकि झगड़े का था। इस प्लाट के कागजात मैंने एक मित्र को दिए। वह भी कागज लौटा गया और वह रुपये भी मुझे देने पड़े। इसके चक्कर में मेरी लखनऊ की कोठी, लखनऊ और नोएडा का प्लाट बिक गया। फिर मुकुल एमएलसी का चुनाव जीत गए। रामवीर यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा कि जब बहन जी ने इसे पार्टी से निकाला तो मेरे लिए यह कहा कि रामवीर व सीमा मेरा मर्डर करा देंगे। जिस भाई को बुलंदियों पर पहुंचाया। मेरी पत्नी ने अपने गहने बेचकर चुनाव में लगा दिए। परिवार के मान सम्मान के लिए सब कुछ किया, लेकिन मुकुल ने अपने कारनामों से हमारे ऊपर कलंक लगा दिया।

rahul gandhi

उन्होंने कहा कि मुकुल रहते तो ग्रेटर नोएडा में हैं। यहां जनता से उनका कोई संपर्क नहीं हैं, लेकिन चुनाव के वक्त यहां आ जाते हैं। उन्होंने कहा कि इस बार भी वार्ड नंबर 14 से रामेश्वर की पत्नी कल्पना निर्दलीय तैयारी कर रही थीं, लेकिन अब मुकुल ने अपनी पत्नी को भाजपा से टिकट दिला दिया। इसलिए मैंने अपनी पत्नी सीमा को वार्ड नंबर 14 से उतारने का फैसला किया है।

जेठानी और देवरानी के बीच होगा मुकाबला

मुकुल से जब यह पूछा गया कि क्या इस स्थिति में वह अपनी पत्नी को चुनाव लड़ाएंगे तो उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने भाई के साथ कोई गद्दारी नहीं की है। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पत्नी रितु उपाध्याय को भाजपा जैसी पार्टी ने मैदान में उतारा है तो चुनाव तो लड़ना ही है। इसलिए रितु उपाध्याय अब वार्ड नंबर 14 से रविवार को पर्चा दाखिल करेंगी। वहीं ऐसे में इस चुनाव में जहां एक तरफ जेठानी सीमा उपाध्याय होंगी तो उनके मुकाबले में देवरानी रितु उपाध्याय चुनाव लड़ेंगी।

modi shah

मैं गद्दार नहीं हूं भइया, कहकर माफी मांगने लगे मुकुल

पूर्व मंत्री के आवास पर उस समय अजीबोगरीब दृश्य पैदा हो गया, जब मुकुल उपाध्याय वहां आ गए और रो-रोकर अपने भाई से माफी मांगने लगे और पैर पकड़ने लगे। रामवीर ने उन्हें चेताया कि बैठक में आने की जरूरत नहीं है। मुकुल काफी देर तक अंदर कमरे में बैठे रहे। यह कहते रहे कि मैं गद्दार नहीं हूं। मैने हमेशा अपने भाई का साथ दिया है। जो कुछ मुझसे बन पड़ा, वह मैंने किया। काफी देर तक यह सब चलता रहा, लेकिन आखिरकार रामवीर ने स्पष्ट कर दिया सीमा वार्ड नंबर 14 से ही चुनाव लड़ेगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments